01 अगस्त, 2014
फ़ॉन्ट का आकार : | अ- | अ+
   
बैंडविड्थ : डायल अप | ब्रॉडबैंड
 
 
left
left
left
|
 






समाचार

शिक्षकों के लिए नैतिक शिक्षा में इग्नू कार्यक्रम

27 सितम्बर, 2011

 इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) के विस्तार एवं विकास अध्ययन विद्यापीठ ने सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन वैल्यू एजुकेशन (सीपीवीई) के लिए वाक इन एडमिशन की पेशकश की है। दूर शिक्षा मोड में यह कोर्स जनवरी 2012 सत्र से शुरू होगा।

इस कार्यक्रम की संयोजक एवं उप निदेशक (आईडी), इग्नू, डा. सिलिमा नंदा ने कहा, ‘‘सीपीवीई का विकास शिक्षकों, स्नातकों, एनजीओ एवं कारपोरेट व नागरिक समाज के दूसरे क्षेत्रों के पेशेवरों के बीच शिक्षण-अध्यापन प्रक्रिया में नैतिक शिक्षा की महत्ता पर जोर देने के लिए किया गया है। इसमें एक एक्टिविटी कंपोनेंट भी है जिसे कार्यक्रम के अंत में पूरा करना होगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इस कार्यक्रम का टार्गेट ग्रुप मुख्यतः शिक्षक हैं ताकि शिक्षण एवं अध्यापन से जुड़ी उनके शैक्षिक विनिमय प्रक्रिया में नैतिक मूल्यों को समाहित किया जा सके।’’

यह उनके लिए उपलब्ध है जिन्होंने न्यूनतम योग्यता के तौर पर 10+2 की पढ़ाई पूरी की है। इसके पूरा करने की न्यूनतम अवधि छह महीने और अधिकतम अवधि दो साल है।

कोर्स में चार प्रायोगिक पत्र हैं, वे हैं: नैतिक मूल्यों का सिंहावलोकन एवं संदर्भ, सामाजिक गतिकी एवं नैतिक मूल्य विकास, मूल्यों का शिक्षाशास्त्र एवं अनुप्रयोग व कौशल सहयोग। एक्टिविटी रिपोर्ट के लिए दो क्रेडिट हैं।

दाखिला प्रपत्र आनलाइन उपलब्ध हैं। साथ ही सभी इग्नू केंद्रों एवं मुख्यालय में इग्नू सामान्य विवरणिका में भी यह उपलब्ध है।